Sunday, September 22, 2019

चांद की एक और बात


     चांद की एक और बात बड़ी
     प्यारी है।
     वह जिसे मिलता नहीं,सपना में  
     आता है।
     🌱🌱
      गंगेश गुंजन
     (उचितवक्ता डेस्क)

Saturday, September 21, 2019

...जिगर तो हर हाल चाहिए !


                      🌍
    देने के लिए जिनके पास कुछ नहीं 
    होता उनके पास जिगर रहता है। 
    जिनके पास बहुत रहता है उनके
    पास देने का ही जिगर नहीं होता।
                      🌍
                 गंगेश गुंजन
             (उचितवक्ता डेस्क)

Thursday, September 19, 2019

किसलिए फिर लौटूंगा

     यहां से जाऊंगा तो किस लिए   
     फिर लौटूंगा।
     सोचता हूं यहीं रखता चलूं 
     ज़िन्दगी तनिक।
                  🕊️                
                        गंगेश गुंजन

Wednesday, September 18, 2019

....बदल लेते नसीब अपना

बदल लेते जो यह मुमकिन होता
किसी ख़ुशक़िस्मत से नसीब अपना।
                गंगेश गुंजन

Tuesday, September 17, 2019

हम मज़दूर हैं


       हम मज़दूर हैं। मिट्टी कोई हो,
       ख़ून-पसीने से उसे देश बना देते हैं।
       जहाज़-जहाज़ भर के सागर पार,
       मज़दूर ले जाओगे,कहां ?
       ख़ून पसीना से हम उसे
                        मॉरिशस कर देंगे।

🌾🌾🌾🌾🌾🌾🌾🌾🌾🌾🌾🌾🌾   
                            गंगेश गुंजन

Saturday, September 14, 2019

हिन्दी दिवस उत्सव १४.९.'१९.

         हिंदी दिवस उत्सव 
                  💐💐
हिंदी दिवस उत्सव मैंने इस तरह मनाया !                    
दिल्ली पुस्तक मेला में राष्ट्रीय पुस्तक न्यास (एनबीटी) द्वारा प्रकाशित,श्री राकेश पाण्डेय लिखित पुस्तक,'गांधी और हिन्दी' महत्त्वपूर्ण पुस्तक क्रय कर के। 
और,
प्रगति मैदान के हाल में आयोजित आथर्स गिल्ड आव इंडिया के आयोजन :गांधीजी और हिंदी : विशेष संगोष्ठी एवं हिन्दी कवि सम्मेलन श्रोतास्वरूप सभागार में अपनी उपस्थिति से।
    हिन्दी दिवस पर बधाई !
                  🌳
             गंगेश गुंजन

Friday, September 13, 2019

चन्द्रयान-सूर्ययान

            चन्द्रयान-सूर्ययान

शान्त,विनम्र और कोमल पर सब का पुरुषार्थ चलता है। चन्द्रमा को ही देख लीजिए। उस पर धमक जाने के लिए देश के देश लगे रहते हैं। लेकिन बड़े 'ज्ञानयोद्धा' हैं वे तो सूर्ययान बना कर तनिक सूरज पर भी धाबा बोल कर दिखायें तो !
      
                    🌓
              गंगेश गुंजन
        (उचितवक्ता डेस्क)